[Test 2] RPSC College Lecturer Exam 2021 Test Series for Hindi Optional

The RPSC conducts the Assistant Professor exam every year and a huge number of candidates fill the form. It is high time to start your preparation with the syllabus given in this article. Once you go through with the RPSC Assistant Professor Syllabus 2021, you will be able to figure out how to and what to prepare for the paper.

RPSC Lecturer Exam 2021 Test Series: 25 High Quality Hindi Optional Mock Tests with answers PDF as per syllabus, Based on Trending and Previous Papers Analysis, which will definitely improve your confidence and score in real exam.

Rajasthan RPSC College Lecturer Exam 2021 Test Series for Hindi Optional – Click Here

Practice Test 2

प्रश्न:-51 जापान में बम विस्फोट को देखकर लेखक ‘अज्ञेय’ ने कौन सी कविता लिखी थी-

अ)जीवन का नाश

ब) मानव का प्रत्यक्ष अनुभव

स)हिरोशिमा

द)आकुलता

Answer: स)

प्रश्न:-52 “मैं क्यों लिखता हूं” निबंध के अनुसार ‘अज्ञेय’ ने कुछ लेखकों को आलसी क्यों बताया है?

अ)उन पर बाहरी दबाव होने के कारण

ब)उनका मन से काम न करने के कारण

स)अच्छा निबंध न लिखने के कारण

द)उनकी स्थिति अच्छी नए होने के कारण

Answer: अ)

प्रश्न:-53  लेखक ‘अज्ञेय’ कृतिकार के लिए अनुभव से अधिक गहरी चीज किसे मानते हैं-?

अ) प्रत्यक्ष देखने को

ब)अनुभूति को

स)समग्र अध्ययन को

द) विषय को समझने की जिज्ञासा को

Answer: ब)

प्रश्न:-54 प्रेमचंद का पहली कहानी संग्रह ‘सप्त सरोज’ कब प्रकाशित हुआ –

अ)1917

ब)1919

स)1922

द)1927

Answer: अ)

प्रश्न:-55 प्रेमचंद का पहला विधवा विवाह पर आधारित हिंदी उपन्यास “प्रेमा” कब प्रकाशित हुआ-

अ)1906

ब)1907

स)1916

द)1917

Answer: ब)

प्रश्न:-56 विश्व प्रसिद्ध हिंदी व उर्दू के कथाकार मुंशी प्रेमचंद की तुलना किन-किन से की है-?

अ) गोर्गि और लूशून

ब)गोर्की और लूशून

स)सोजे ओर वतन

द) बाबू गुलाबराय बनारसी

Answer: ब)

प्रश्न:-57 प्रेमचंद का प्रसिद्ध उपन्यास निम्नलिखित में से कौन-सा है जो हिंदी का “प्रथम मौलिक एवं युगांतकारी” उपन्यास माना जाता है-

अ)प्रेमा

ब)गोदान

स)सेवासदन

द) कफन

Answer: स)

प्रश्न:-58 प्रेमचंद की पहली रचना उर्दू लेख जो -‘ओलिवर क्रामवेल’ शीर्षक से बनारस के उर्दू साप्ताहिक पत्र में किस नाम से धारावाहिक रुप में प्रकाशित हुई-

अ)असरारे आबिद उर्फ़ देवस्थान रहस्य

ब)सोजे वतन

स)आवाज़ -ए -अल्ख

द)आवाज- ए -खल्क

Answer: द)

प्रश्न:-59 प्रेमचंद की पहली मौलिक कहानी जो सन 1907 में ‘जमाना’ में प्रकाशित हुई -किस नाम से जानी जाती है-?

अ)सोजे वतन

ब)बड़े घर की बेटी

स)संसार का अनमोल रतन

द)दो बैलों की कथा

Answer: स)

प्रश्न:-60 प्रेमचंद की पत्नी शिवरानी देवी ने शीर्षक ‘प्रेमचंद घर में’ पुस्तक कब प्रकाशित करवाई थी-

अ)1935

ब)1940

स)1944

द)1956

Answer: स)

प्रश्न:-61 प्रेमचंद के उपन्यास ”प्रेमा, सेवा सदन, निर्मला, गबन” का कालक्रम निर्धारित करें-

अ)1907, 1918, 1927, 1931

ब)1907, 1927 ,1936 ,1932

स)1918, 1907, 1927, 1931

द) ऊपर लिखित सभी

Answer: अ)

प्रश्न:-62 निम्नलिखित में से कौन सी कहानी प्रेमचंद की नहीं है-

अ)परीक्षा

ब)सुजान भगत

स)कजाकी

द)ग्राम

Answer: द)

प्रश्न:-63 मुंशी प्रेमचंद की पत्रिकाओं का निम्नलिखित में से सही समूह है-

अ)जागरण, सरस्वती ,मर्यादा, माधुरी

ब)हंस ,मर्यादा ,इंदुमति ,जागरण

स)जागरण ,मर्यादा, माधुरी, हंस

द)सरस्वती, माधुरी, हंस, मर्यादा

Answer: स)

प्रश्न:-64 प्रेमचंद की कहानियों का संकलन ‘मानसरोवर’ के कितने खंड हैं-

अ)5

ब)6

स)7

द) 8

Answer: द)

प्रश्न:-65 निम्नलिखित में से प्रेमचंद के कौन से उपन्यास व कहानी को अंतिम माना जाता है-

अ)सेवासदन और सप्त सरोज

ब)गोदान और कफन

स)प्रेमा और सोजे वतन

द)ऊपर लिखित सभी

Answer: ब)

प्रश्न:-66 प्रेमचंद की जीवन की अंतिम समय की कहानियों का स्वर था-

अ)आदर्शवादी

ब)यथार्थवादी

स)प्रयोगवादी

द)समाजवादी

Answer: अ)

प्रश्न:-67 गांधीजी के असहयोग आंदोलन से जुड़ जाने के कारण लेखक प्रेमचंद ने क्या किया-

अ)अपना निजी काम बंद कर दिया

ब)साहित्य सेवा में योगदान देना शुरु कर दिया

स)कहानी एवं उपन्यास लिखना आरंभ कर दिया

द)सरकारी नौकरी से त्याग पत्र दे दिया

Answer: द)

प्रश्न:-68 निम्न में से कौन सी रचना प्रेमचंद की नहीं हैं –

अ)प्रेम पच्चीसी

ब) प्रेम द्वादशी

स) सप्त सरोज

द) सुधारसव्

Answer: द)

प्रश्न:-69 “कुछ विचार “संग्रह में संकलित है |प्रेमचंद के—-

1.  नाटक संबंधी लेख

2.  उपन्यास

3. निबंध ✅

4.  कहानियां

Answer: 3

प्रश्न:-70 प्रेमचंद को ‘प्रेमचंद’ नाम किसने दिया-

अ)जय नारायण रॉय

ब)रामनारायण झा

स)दयानारायण निगम

द)रामाधार निगम

Answer: स)

प्रश्न:-71 प्रेमचंद का कार्यकाल निर्धारित करें-

अ)1870 से 1930

ब) 1880 से 1930

स)1880 से 1936

द)1885 से 1946

Answer: स)

प्रश्न:-72 जंगल की कहानियां कुत्ते की कहानियां निम्नलिखित में से किससे संबंधित है-

अ)उपन्यास संग्रह से

ब)भाषा संपादन से

स)कहानी संग्रह से

द)बाल साहित्य से

Answer: द)

प्रश्न:-73 निम्नलिखित में से प्रेमचंद के बारे में गलत संगत है-

अ)  प्रेमचंद अपने युग के एकमात्र ऐसे उपन्यासकार कहानीकार है जिन्होंने समाज की विसंगतियो, जड़ताओं,और समस्याओं के विरुद्ध चित्रण के साथ नवजागरण व् राष्ट्रीय चेतना को प्रमुखता से चित्रित कियाl

ब)प्रेमचंद का दूसरा विवाह है बाल विद्वान निर्मला देवी से हुआ

स) प्रेमचंद के पहले उर्दू कहानी संग्रह सोजे वतन की देशप्रेम की कहानियों के कारण उनकी बहुत प्रशंसा हुई

द) महात्मा गांधी के असहयोग आंदोलन व उनकी प्रेरणा से प्रेमचंद ने 20 साल की सरकारी नौकरी से इस्तीफा दे दिया

Answer: ब)

प्रश्न:-74 निम्नलिखित में से किस कवि का मूल नाम “आनंदीलाल” था-

अ) यशपाल

ब) हरिशंकर परसाई

स) राहुल सांस्कृत्यायन

द) जैनेंद्र कुमार

Answer: द)

प्रश्न:-75 निम्नलिखित कहानी साहित्य का काल क्रम निर्धारित करें-

अ)एक रात ,दो चिड़िया, जयसंधि, पाजेब

ब) एक रात, पाजेब ,दो चिड़िया, जयसंधि

स)एक रात ,दो चिड़िया ,पाजेब, जयसंधि

द)जयसंधि, एक रात, पाजेब, दो चिड़िया

Answer: स)

प्रश्न:-76 “नीलम देश की राजकन्या” जैनेंद्र कुमार द्वारा लिखित कहानी कब प्रकाशित हुई-

अ)1933

ब)1934

स)1935

द)1942

Answer: अ)

प्रश्न:-77 कवि -जैनेंद्र कुमार कोे सन् 1970 में किस सम्मान से सम्मानित किया गया था-

अ)पद्म विभूषण

ब)पदम् भूषण

स)हिंदी साहित्य पुरस्कार

द)ऊपर लिखित सभी

Answer: ब)

प्रश्न:-78 “जड़ की बात” क्या है-

अ)कहानी  साहित्य

ब)उपन्यास साहित्य

स)निबंध साहित्य

द)यात्रा संस्मरण

Answer: स)

प्रश्न:-78 कवि जैनेंद्र कुमार किस

कोटि के साहित्यकार है-

अ)मनोविश्लेषणवादी

ब)अस्तित्ववादी

स) समाजवादी

द)व्यवहारवादी

Answer: अ)

प्रश्न:-79 “प्रेम निजी धारणा हैं और विवाह सामाजिक सम्प्रत्यय” ऊपर लिखित कथन किसका है-

अ) प्रेमचंद का

ब)जैनेंद्र का

स)यशपाल का

द)महादेवी वर्मा का

Answer: ब)

प्रश्न:-80 जैनेंद्र कुमार जी का उपन्यास त्यागपत्र ने उन्हें किस रूप में ख्याति दिलवाई-

अ)समाजवादी उपन्यासकार

ब)व्यवहारवादी उपन्यासकार

स)मनोवैज्ञानिक उपन्यासकार

द)अस्तित्ववादी उपन्यासकार

Answer: स)

प्रश्न:-81 कवि जैनेंद्र कुमार का ‘बाजार दर्शन’ किन मूल तत्वों को केंद्र में रखकर लिखा है-

अ)बाजारवाद का बढ़ता स्वरूप और बाजार दर्शन की आवश्यकता

ब)उपभोक्ता की आवश्यकता और बाजारवाद

स)बाजारवाद के दर्शन का बढ़ता स्वरूप और उपभोक्ता की आवश्यकता

द)बाजारवाद का बढ़ता स्वरूप और उपभोक्ता की आवश्यकता✅

Answer: द)

प्रश्न:-82 “बाजार दर्शन” क्या है-

अ)कहानी

ब)निबंध

स)अ व ब

द)उपन्यास

Answer: ब)

प्रश्न:-83 निम्नलिखित में से उस कहानी का चयन कीजिए, जिसमें प्रतीकात्मक अध्यात्म के दर्शन होते है-?

अ)नीलम देश की राजकन्या

ब)पाजेब

स)एक रात

द)मास्टर साहब

Answer: अ)

प्रश्न:-84 “बाजार दर्शन” के अनुसार बाजार के आमंत्रण की क्या विशेषता होती है-

अ)वह दिखावटी होता है

ब)वह मौन आकर्षण होता है

स) विक्रेता को कार्य करने को बाध्य कर देता है

द)ऊपर लिखित सभी

Answer: ब)

प्रश्न:-85 “असंतोष, तृष्णा और ईर्ष्या से घायल कर मनुष्य को सदा के लिए यह बेकार बना डालता है l”लेखक ने ऐसा क्यों कहा-

अ)मन के ठीक नहीं होने पर

ब) बाजार के आमंत्रित करने पर

स) आवश्यक खरीदारी करने पर

द)उक्त सभी

Answer: ब)

प्रश्न:-86 लेखक ने ‘बाजार दर्शन’ के अनुसार खरीदारी के मूल में किस तत्व को सर्वप्रमुख प्राथमिकता दी है-

अ)मनी बैग

ब)आवश्यकता

स)मन

द)बाजार

Answer: अ)

प्रश्न:-87 लेखक के अनुसार बाजार की असली कृतार्थता क्या है-

अ)जमकर खरीदारी करना

ब)अनावश्यक नहीं जाना

स)आवश्यकता के सामान को खरीदना

द)जो मिले खरीद लेना

Answer: स)

प्रश्न:-88 जो व्यक्ति अपनी आवश्यकता नहीं जानता उस पर बाजार के आकर्षण का क्या प्रभाव होता है-

अ)उसे बाजार का आकर्षण प्रभावित नहीं कर पाता

ब)वह उसके आकर्षण से अनावश्यक वस्तुओं भी खरीद लेता है

स)वह बाजार के आकर्षण के प्रभाव से अपनी जरूरत की चीजें खरीद लेता है

द)उक्त सभी

Answer: ब)

प्रश्न:-89 “जहां तृष्णा है बटोर रखने की स्पृहा है ,वहां उस बल का बीज नहीं है l”लेखक ने ऐसा कहकर किस ओर संकेत किया है-

अ)मन की निर्बलता पर

ब)मन की सबलता पर

स)मन की स्वच्छंदता पर

द)मन की स्वतंत्रता पर

Answer: अ)

प्रश्न:-90. ‘सुंघनी साहू ‘के नाम से निम्नलिखित में से कौन प्रसिद्ध है-

अ)माखनलाल चतुर्वेदी

ब) जयशंकर प्रसाद

स)सुमित्रानंदन पंत

द)हरिशंकर परसाई

Answer: ब)

प्रश्न:-91 ‘देवसेना का गीत’ जयशंकर प्रसाद ने किस नाटक से लिया है-

अ)स्कंदगुप्त

ब)चंद्रगुप्त

स)अजातशत्रु

द)विशाख

Answer: अ)

प्रश्न:-92 ”मैंने भ्रमवश जीवन संचित, मधुकारियों की भीख लुटाई उपर्युक्त शब्द किसने कहे हैं-

अ)स्कंद गुप्त ने

ब)कवि ने

स) प्रण दत्त ने

द)देव सेना ने

Answer: द)

प्रश्न:-93 जय शंकर प्रसाद द्वारा लिखी कहानी संग्रह का क्रमबद्ध करें-

अ)आकाशदीप, प्रतिध्वनि, छाया, इंद्रजाल

ब)आकाशदीप, प्रतिध्वनि, छाया, आँधी

स)आकाशदीप, आँधी, छाया, प्रतिध्वनि

द)आकाशदीप, इंद्रजाल, आँधी, छाया

Answer: स)

प्रश्न:-94 ‘आह वेदना मिली विदाई’ कविता में कौन सा भाव है-

अ)दीनता

ब)वेदना

स)आकांक्षा

स)प्रणय

Answer: ब)

प्रश्न:-95 “पथिक उनींदी श्रुति में किसने ,यह विहाग की तान उठाईl” कवि देवसेना के माध्यम से क्या कहना चाहता है-

अ)अब कौन प्रणय निवेदन कर रहा है

ब)अब किसने प्रणय की बात कही है

स)अब प्रेम की ओर किसने देखा हैं

द) उपर्युक्त सभी

Answer: अ)

प्रश्न:-96 ‘मैंने निज दुर्बल पद- बल पर उससे हारी होड़ लगाई’ में हारी होड़ में प्रयुक्त अलंकार है –

अ)रूपक

ब)उत्प्रेक्षा

स)उपमा

द)अनुप्रास

Answer: द)

प्रश्न:-97 ‘लौटा लो यह अपनी थाती’ उपयुक्त पंक्ति में ‘थाती’ शब्द का क्या आशय है-

अ)धरती

ब)मानवाधिकार

स)उत्तराधिकार

द)धरोहर

Answer: स)

प्रश्न:-98 ‘चढ़कर मेरे जीवन- रथ पर, प्रलय चल रहा अपने पथ परl’ ऊपर लिखित पंक्ति में ‘जीवन- रथ’ में कौन सा अलंकार प्रयुक्त हुआ है-

अ)उपमा

ब)रुपक

स) श्लेश

द)मानवीकरण

Answer: ब)

प्रश्न:-99 सिकंदर के सेनापति सेल्यूकस की बेटी निम्नलिखित में से कौन है-?

अ)देवसेना

ब)कार्नेलिया

स)अ ओर ब

द)इनमें से कोई नहीं

Answer: ब)

प्रश्न:-100 कार्नेलिया  गीत में कवि ने उड़ते खगों को अपना नीड़ समझ किस और आने के लिए कहा है –

अ)भारत की ओर

ब) समुद्र की ओर

स) पश्चिमी देशों की ओर

द)उक्त सभी की ओर

Answer: अ)

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *